शेर और चींटा by क्वार्ट्ज ओटर

शेर और चींटा by क्वार्ट्ज ओटर


The Blurb / प्रस्तावना :

जंगल में सभी प्रकार के परिवार हैं, कुछ छोटे हैं, कुछ बड़े हैं, कुछ उड़ने वाले हैं, कुछ तैरने वाले हैं, यहाँ तक कि कुछ बहुत छोटे भी हैं, कुछ रेंगने वाले भी हैं, गुंजन करने वाले और भी बहुत प्रकार के हैं। सब में से विशालकाय प्राणी हाथी हैं, जो विनम्र, मजबूत, ऊँचे स्वर वाले और बहुत शक्तिशाली हैं, जिनके पेड़ के तने जैसे पैर और एक हजार ट्रम्पेट्स जैसी प्रभावशाली आवाज़ हैं। यद्यपि अपनी अपार ताकत के लिए जाना जाने वाला हाथी, बेहद शांत और हमेशा लड़ाई से नफरत करने वाला प्राणी होते हैं।  The Story / कहानी :  इस कहानी में लेखक क्वार्ट्ज ओटर ने बड़ी सुंदरता से जंगल को दर्शाया है और साथ ही साथ शेर और चीटी की कहानी प्रस्तुत की है। ये कहानी एक जंगल की है जिसमे अलग अलग प्रकार के प्रानी और उनके परिवार बताएं गए है| इस परिवार में कुछ छोटे, कुछ बढे, कुछ उड़ने वाले, कुछ तैरने वाले, कुछ रेंगने वाले, कुछ गूंजने वाले, और बहुत से प्रकार के परिवार शामिल थे| उसी तरह जंगल में सबसे छोटे प्रानी चीटियाँ है जो सबसे कठिन काम करती थी। वोह दिन रात काम करते, एक साथ रहेते और हमेशा खुशीसे रहने के लिए प्यार से रहते थे। वही दूसरी ओर शेर जिसकी ताक़त गरिमा दयालु के कारन जंगल के सभी परिवार एक साथ और प्यार से रहते थे।  उसी दौरन एक दिन लकड़बाघा जो की राजय हासिल करने के लिए चीटियाँ का सहयोग चाहता था क्योकि उनमे एकाग्रता थी और वह आसानी से उनको बेवक़ूफ़ बना सकता था। तो लकड़बाघा ने तरकीब लगाया और पानी गिरा के चींटियों का घर नष्ट कर दिया, जिस समय चीटियाँ काम पे गयी थी। समय का फ़ायदा उठाया कर लकड़बाघा ने, फिर चीटियो से कहा की शेर ने तुम्हारी मदत क लिए भेजा है और फिर उनकी मदत करके उन्हें अपना गुलाम बनाकर अपना काम करता है। यह देख के एक छोटी चीटी जिसका नाम टीम है, वह अपने परिवार की रक्षा के लिए निकल पढ़ी। क्या टीम अपने परिवार की रक्षा और ये सफर तेह कर पायेगा? या लकड़बाघा चीटियो के सयोग से जंगल का राजा बन जायेगा?  My Take: यह बहुत ही दिलचस्प कहानी है जो की मुझे पढ़के एक नए सफर पे ले गयी। इस कहानी में भावनाओ को घेरियों से लिखा गया है, जिससे पढ़के मुझे मेहनत करने की एमियत पता चली। इसी के साथ यह कहानी आपको अपने आप पे विस्वास रखने और जो ठान लिया उससे कर दिखाने का जोश महसूस कराया है। यह कहानी से प्रेरित हो के आप जीवन सफलता की सीडी हासिल कर सकते है।  यह कहानी के अंत में आपको यह सीक मिलेगी के हमे मुश्किलों से भागना नहीं चाइए उनका सामना डट के करना चाइए। कितना भी कठिन रास्ता हो सच्चा राजा वोह है जो हर समय दुसरो की मदत करे।  लेखक क्वार्ट्ज ओटर जी ने हर एक वर्णों का विस्तार से वर्णन किया है।  भले ही लेखक हिंदी नहीं जानता हो, लेकिन उन्होंने अपनी पुस्तक को प्रत्येक शब्द के साथ स्वयं लिखा है, जो बहुत ही आकर्षक है। और यह कहानी ना केवल मनोरंजनक है, बल्कि हमे अंत में लेखक की कड़ी मेहनत भी दिखाई देती है।  सम्पूर्ण कहानी एक छोटी सी चीटी के ऊपर है जो कठिन रास्तें पार करके अपनी मुश्किलों को ख़तम करके जीत हासिल करती है। इस कहानी में आखिरकार कैसे एक छोटी चीटी क्या कुछ कर दिखाती है उससे जान ने के लिए यह क्लिक करिये और पढ़िए शेर और चीटा की कहानी लिखित क्वार्ट्ज ओटर द्वारा।